Student Page

यश और खुशियाँ हासील करें

जैसे बच्चे बडे होने लागते हैं, हर माँ- बाप की अपने बच्चे के लिये खुशियां, तंदुरुस्ती और आर्थिक बल की कामना होती है । हाला की विश्व स्तर पर ६४% माँ-बाप अपने बच्चे की ख़ुशी चाहते हैं, भारत में ५१% माँ - बाप अपने बच्चे के लिये अनुचित रोजगार का लक्ष्य सामने राखते हैं । बचे हुए ४९% माँ - बाप के विचारों से आगे बढकर इनका विश्वास है की उचित रोजगार ही उनके बच्चे को खुशियां और स्वास्थ्य तथा आर्थिक स्थिरता दे सकता है [[एच एस बी सी रिटेल बँकिंग और वेल्थ मॅनेजमेंट रिपोर्ट “शिक्षा का मूल्य : जीवन का ज्ञान”]

‘इस लिये, भारत के ज्यादातार लोगों का उनके बच्चे का “ शैक्षिक और विश्वस्तरीय स्पर्धात्मक प्रदर्शन “ यह प्रमुख लक्ष्य होता है । तंत्रज्ञान और संचार व्यवस्था में हुई प्रगती के फलस्वरुप बच्चों को यह लक्ष्य हासील करना पहले से ज्यादा संभव हो गया है, किंतु माता - पिता को यह ध्यान रखना जरूरी है की विश्वस्तरीय स्पर्धाओं में यश पाने के लिये विश्वस्तरीय प्रतिभा का हासील करना अनिवार्य है ।”.

व्यवसायों के निजीकरन तथा वैश्विक फैलाव की बदौलत जागतिक स्तर पर व्यवसायों की मांगे और अपेक्षांयें बढी हैं और जटिल सामाजिक व्यवस्था ने हर माता-पिता पर यह अतिरिक्त उद्देश्य थोप दिये हैं की वे अपने बच्चे को व्यावसायिकता के रास्ते पर उपयोगी बनायें और उसे जिम्मेदार नागरिक बनायें ।

इस लिये हर माता - पिता को यह पहला कदम उठाना चाहिये की ये तय करें की अपने निम्न दर्शित उद्देशों को हासिल करने के लिये अपने बच्चे को किस उद्दिष्ट की तरफ बढाना जरूरी है ।

पेरीशिया मॉडल द्वारा विकसित क्षमताएँ

शैक्षिक प्रदर्शन में सुधार लाने के लिये

भाषा निपुणता

गणितीय क्षमता

विश्लेषण और तार्किकता और युक्तियुक्तता

स्मृति

एकाग्रता

आकलन और आत्मसाकरन

मौखिक संभाषण

रचनात्मकता

शारीरिक क्षमता

सर्व साधारण स्पर्धात्मकता बढ़ाने के लिये

भाषा निपुणता

गणितीय क्षमता

विश्लेषण और तार्किकता और युक्तियुक्तता

स्मृति

एकाग्रता

आकलन और आत्मसाकरन

रचनात्मकता

सामान्य जानकारी

समय प्रबंधन

मौखिक संभाषण

शारीरिक क्षमता

रोज़गार क्षमता बढ़ने के लिये

भाषा निपुणता

गणितीय क्षमता

विश्लेषण और तार्किकता और युक्तियुक्तता

एकाग्रता

रचनात्मकता

समय प्रबंधन

मौखिक संभाषण

शारीरिक क्षमता: शक्ति, उर्जस्विता

जिम्मेवारी का एहसास

सामाजिकता

जिम्मेदार नागरिक विकसन के लिए

समय प्रबंधन

सामाजिकता

जिम्मेवारी का एहसास

मूल्य, शिष्टाचार और आचरण

पर्यावरण अनुशासन

आपदा अनुशासन

एंटेल्की कौशल और प्रतिभा विकास प्रणाली

हर माता - पिता की इस उद्देश्य पूर्ती के लिये एंटेल्की ले आयी है अनेक स्तरीय उपक्रम आधारित 'कौशल और प्रतिभा विकास' कार्य प्रणालि । इस प्रणाली तहत अनेक योजनाएं सम्मिलीत हैं जो भिन्न - भिन्न समय के लिये कार्यरत की जा सक्ती हैं । इनका फ़ैलाव एक साल के 'संपूर्ण क्षमता विकास योजना' से लेकर दो महिने के 'छोटे विशेष क्षमता विकास' की योजनाओ तक विस्तृत है ।

माता - पिता अपने बच्चे के लिये निम्न लिखित योजनाओं में से कोई भी एक सबसे उपयुक्त योजना चुने जिसकी वजह से आप अपने और बच्चे के उद्देश्य पुरे कर सकते हैं ।

पेरीशिया - पी एन

(३ री से १०)   १ साल के लिये

शैक्षिक और सम-शैक्षिक यश सिद्धी के लिये - मनोरंजक कार्य प्रणाली


एकाग्रता
वृद्धि

(३ - ६ कक्षा के लिये)  २ महिने का कार्यकाल

एकाग्रता हासील करना यह ऊंचे दर्जे के काम की बुनियाद है


विश्लेषणात्मक
वृद्धि

(३ - ६ कक्षा के लिये)  २ महिने का कार्यकाल

शिक्षा का मतलब सिर्फ जानकारी हासील करना नही है, पर मन और दिमाग को सुझ-बूझ सिखाना है !


रचनात्मकता
वृद्धि

(३ - ६ कक्षा के लिये)  २ महिने का कार्यकाल

जितनी ज्यादा रचनात्मकता इस्तेमाल हो उतनी ही ज्यादा वो बढती है


अंग्रेजी भाषा
वृद्धि

(३ - ६ कक्षा के लिये)  २ महिने का कार्यकाल

अंग्रेजी भाषा के भय से मुक्त हो ! उसपर काबू पायें!


एकाग्रता
वर्धक

(७ - १० वी के लिये)  २ महिने का कार्यकाल

एकाग्रता हासील करना यह ऊंचे दर्जे के काम की बुनियाद है


विश्लेषणात्मक
वर्धक

(७ - १० वी के लिये)  २ महिने का कार्यकाल

शिक्षा का मतलब सिर्फ जानकारी हासील करना नही है, पर मन और दिमाग को सुझ-बूझ सिखाना है


रचनात्मकता
वर्धक

(७ - १० वी के लिये)  २ महिने का कार्यकाल

जितनी ज्यादा रचनात्मकता इस्तेमाल हो उतनी ही ज्यादा वो बढती है!


अंग्रेजी भाषा
वर्धक

(७ - १० वी के लिये)  २ महिने का कार्यकाल

अंग्रेजी भाषा के भय से मुक्त हो ! उसपर काबू पायें!


जीवन
दिशा

(९ - १२ वी के लिये)  १ महिने का कार्यकाल

अपने सपने साकार करने हेतु, रोजगार की सही दिशा जानेI यही सही वक्त है !


₹ १०००/-

प्रमाण पत्र

परिणाम एकदम सही थे और प्रभावपूर्ण ढंग से प्रदर्शन में सुधार लाने के लिए मेरी मदद की।

मैंने इस परीक्षा को खुद का विश्लेषण करने के लिए लिया था और सचमुच यह मुझे बहुत ही मददगार स्थापित हुई क्योंकि इसके परिणाम एकदम सही थे और उसने प्रभावपूर्ण ढंग से मेरी ताकत और कमजोरियों को निर्देशित किया। मैं सही दिशा में आवश्यक कार्यवाही कार्यान्वित करने में सक्षम हो गया। इसने केवल शैक्षणिक प्रदर्शन में सुधार लाने के लिए मेरी मदद की ऐसा नहीं बल्कि मेरे जीवन कौशलों को भी बढ़ाता गया।

जो कोई भी व्यक्ति अपने खुद के बारे मे अच्छी तरह से जानना चाहता है उसे मैं इसकी सिफ़ारिश करूंगा।

- अखिलेश मालसे, पुणे

करियर के बारे में संभ्रम दूर हुआ और सही मार्गदर्शन मिला!

बौद्धिक क्षमता, भावनिक स्थिति, जीवन कौशल तथा साधारण विशेषता जैसे पैलुओं का पूरा विश्लेषण इस परीक्षा में शामिल है। इससे आगे जाके, विस्तृत ग्राफिकल रिपोर्ट के साथ कार्य-निष्पादनपे आधारित सबसे उपयुक्त करियर्स की सिफारिश की हुई है। इस परीक्षा का सबसे बढ़िया हिस्सा अंतर विश्लेषण है। विद्यार्थियों के मनपसंद करियर के लिए अपेक्षित सुधार भी दर्शाए जाते है। एंटेल्कीने मेरे करियर के भविष्य तय करने में मेरी मदद की जिसके लिए मैं उनकी आभारी हूँ।

- श्रेया ओगले, औरंगाबाद