Corporate Banner - hindi

Corporate Home

इसमें से आप कौन हो !

एक उमंगी देश को हम अर्जित कर रहे है एक उज्वल भविष्य का वादा !


आज रोजगार के क्षेत्र और साधनों में प्रतिदिन बदलाव हो रहे है। और रोजगार पाना एक जटिल समस्या बन गई है। आज की शिक्षा व्यवस्था रोजगार उपलब्ध कराने में असर्थ है और यह एक चुनौती देश के सामने है।

शिक्षा के स्तर और मानक नव युवकों को रोजगार के औसर शायद नहीं दे सकते। अगर शिक्षा व्यवस्था में सुयोग्य बदलाव न लाये जाये तो युवकों की उपयुक्तता कम पड़ने के असर दिखने लगेंगे और देश के सामने शिक्षित बेरोजगारों की बढ़ती संख्या की चुनौती निर्माण हो जाएगी।

ऊपरी चचुनौतियों का सामना करने के लिए ''राष्ट्रीय मानवी संसाधन " का "कौशल विकास" करने का प्रभावी तथा एकमात्र रास्ता अपनाना होगा

हमारे दीर्घ शोध और जाँच के उपरांत एक आदर्श प्रणाली का विकसन हुआ है जो विद्यानिक दृष्टि से परिपक्व है और "प्लान-कृति-जाँच-आचारण " ढंग से हर व्यक्ति को उसकी क्षमताओं की जाँच करा देती है और उस व्यक्ति को रोजगार प्राप्त करने हेतु उस की मुलभूत क्षमता और कौशल में योग्य वृद्धि कराती है।

कौशल आधार रेखा
आजमाना

क्षमता विकास के
लक्ष्य की सुनिश्चिति

कौशल और क्षमताओं का
विकास

निरिक्षण और
नियंत्रण

कौशल और क्षमता विकास – एन्टेल्की नमूना

वर्तमान युग की ज्ञान अर्थनीति में, किसी भी राष्ट्र का “ कुशल और सक्षम मानव संसाधन” देश के आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए महत्वपूर्ण ताकद बनते जा रहा है।राष्ट्र के मानव संसाधन का कौशल और क्षमता के विकास को श्रमिक क्षेत्र के वर्तमान द्विभाजन की दृष्टिकोण से भी देखा जाना चाहिए, जिससे मालिक को आवश्यक कौशल के श्रमिक बल मिलना मुश्किल हो गया है, जबकि उसी समय लाखों युवा बेरोजगार नौकरी की तलाश कर रहे हैं।

कौशल और क्षमता विकास हर एक इंसान के जीवनभर चलनेवाली एक प्रक्रिया है। इस प्रक्रिया में बचपन से लेकर एक व्यक्ति के सम्पूर्ण जीवन में विभिन्न कौशल को सिखना और उसमे कुशलता हासिल करना जारी रखना शामिल होता है।

राष्ट्रीय मानव संसाधन की ‘सही कुशलता' उपरोक्त समस्या के लिए एक सबसे अधिक प्रभावकारी उपाय हो सकता है।

विद्याभ्यास के पूर्व बालविकास

इंसान के जीवन के पहले पाँच वर्षों मे उसके दिमाग का विकास जीवन के अन्य समय की अपेक्षा सबसे तेज गति से होता है। वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गनाइज़ेशन और यूनिसेफ के अनुसार बचपन ही विकास की एक ऐसी महत्वपूर्ण अवस्था है जिसमे बुद्धिमत्ता, व्यक्तित्व,सामाजिक व्यवहार, शिक्षा पढ़ने की क्षमता और अपने आप को एक वयस्क के रूप में पोषण करने की नीव बनती है।

वैयक्तिक 'कौशल विश्लेषण'

विश्व में ऐसा कुछ भी नहीं है जिसे एक बुद्धिमान और शक्तिशाली दिमाग हासिल नहीं कर सकता। उच्च माध्यमिक कक्षा के छात्रों, पदवीपूर्वस्नातकों और व्यावसायिकों के लिए विकसित की हुई एन्टेल्की कौशल रूपरेखा परीक्षाओं उनकी योग्यता के वर्तमान स्तर के आधार पर एक सम्पूर्ण और वैज्ञानिक स्वोट (SWOT) विश्लेषण उन्हें देता है।

छात्र का कौशल और क्षमता विकास

आज के लगातार विकसित हो रहे रोजगार क्षेत्र में पदवी प्रमाणपत्र पर्याप्त होने से दूर चला गया है, छात्रों और जवानों को उनका शैक्षणिक प्रदर्शन बेहतर करनेवाले विभिन्न कौशलों और क्षमताओं और सर्वांगीण विकास से सुसज्जित होना अनिवार्य हो गया है , जिसके फलस्वरूप उन्हे रोजगार मिलने के अवसरों मे वृद्धि होती है।

हमारे ग्राहक हमारे बारे मे क्या कहते हैं !

यह एक अति उत्तम योजना है और हमारे सभी स्कूलों का एक हिस्सा बनना चाहिए

हमारे छात्रों की स्वतंत्र रूपसे सोचने की क्षमता, बोध, विवाद और जिज्ञासा मे सुधार हुआ है। उनका आत्मविश्वास सुधर गया है। छात्र जो अपने आपमें उलझे हुए रहते थे, वे अब कक्षा के उपक्रमों में शामिल हो रहें हैं।

उनके ज्ञान मे वृद्धि हुई हैं और हमारे पढ़ाने के तरीकों के अच्छे सकारात्मक परिणाम प्राप्त हुए हैं। कुल मिलाकर छात्रों की पढ़ने की उत्सुकता में सुधार आया है और बच्चे अधिक केन्द्रित हो गए हैं।

- श्रीमति रंजना तासकर, उपाध्यक्षा, उषाताई लोखण्डे ट्रस्ट

बच्चों के विकास के लिए एन्टेल्की एक वैज्ञानिक तरीका है !

मैं अपनी बेटी के वैज्ञानिक दृष्टि से विकास के लिए एक तरीके की खोज मे था और मेरी खोज एन्टेल्की पर आ के खत्म हुई। मेरी बेटी ने एन्टेल्की की हर एक उपक्रम का आनंद उठाया और उसकी अध्ययन की रूचि अधिक बढ़ गयी है ! अब गणित उसका पसंदीदा विषय हो गया है। वह अब अपने आप में अनुशासित और संगठित हो गयी है। मैं सभी पालकोंसे इस प्रणाली की सिफारिश करता हूँ जिससे वे अपने बच्चों के विकास में आनंद उठाएँ जैसा मैंने उठाया है !

- श्री. प्रफुल्ल द्रविड़ ,पुणे

एन्टेल्की के 'सुधार के लिए सुझाव' वैशिष्ट्य ने मेरी कमजोरियों में सुधार लाने में मेरी मदद की !

अन्य छात्रों की तरह, मैं भी अपने करियर के बारे में कोई निर्णय लेने में परेशान हो गयी थी । एन्टेल्की व्यवसाय मार्गदर्शन परीक्षा इसके लिए सर्वोतम सुलझाव था। मैंने अपनी ताकत और कमजोरी को पहचाना और उनके अनुसार मुझे करिअर्स सूचित कर दिए गए। इस परीक्षा की “सुधार के लिए सुझाव“ वैशिष्ट्य के जरिये तो मैं अपनी कमजोरियों में सुधार लाने में सक्षम हुई । मैं सभी को इस परीक्षा की सिफारिश करती हूँ!

- वेदांती गोडबोले